RBSE Activity 2.9 Class 10 Science Solutions in Hindi

आज हम RBSE Activity 2.9 Class 10 Science Solutions in Hindi को अच्छे से समझने वाले हैं जो कि  अध्याय 2 अम्ल , क्षार और लवण पर आधारित हैं | इस क्रियाकलाप में  हम जानेगे कि अम्ल का अम्लीय गुण हाइड्रोजन आयनों के कारण होता है  |

गतिविधि(Activity in Hindi)

  • एक स्वच्छ एवं शुष्क परखनली में लगभग 1 ग्राम ठोस NaCl लीजिये तथा चित्र के अनुसार  और उपकरण को व्यवस्थित करें ।
  • परखनली में कुछ मात्रा सल्फ्यूरिक अम्ल डालिए |
  • आपने क्या प्रेक्षण किया ? क्या निकास नली से कोई  गैस बाहर आ रही है?
  • इस प्रकार उत्सर्जित गैस की सूखे और नाम नीले लिटमस पात्र द्वारा जांच कीजिये |
  • किस स्थिति में लिटमस पत्र का रंग परिवर्तित होता है?
  • उपरोक्त क्रियाकलाप के आधार पर आप निम्न के अम्लीय गुणों के बारे में क्या निष्कर्ष निकाल सकते हैं
  • सूखी HCl गैस।
  • HCl विलयन ।

अध्यापको के लिए निर्देश  – यदि जलवायु बहुत आर्द्र है, तो गैस को शुष्क करने  के लिए कैल्शियम क्लोराइड वाली शुष्क नली  में से गैस को प्रवाहित करना होगा|

 

अवलोकन(Observation in Hindi)

RBSE Activity 2.9 Class 10 Science Solutions in Hindi

जब सल्फ्यूरिक अम्ल और NaCl की क्रिया होती है तो HCl गैस उत्सर्जित होती है , जब इसके पास शुष्क नीला लिटमस पत्र लाते है तो उसके रंग में कोई परिवर्तन नही होता है |

जब नम नीला  लिटमस पत्र गैस के संपर्क में लाते है तो उसका रंग लाल हो जाता है|

ऐसा इसलिए होता है क्यों कि अम्ल जल में हाइड्रोजन आयन मुक्त करते हैं , ये आयन ही अम्लीय गुण के लिए जिम्मेदार होते हैं |

हाड्रोजन आयन जल के अणु के साथ क्रिया करके हाड्रोनियम आयन (H3O+के) रूप में उपस्थित रहते हैं |

HCI(g)+ H2O(I) →H3O+ + CI

इसी तरह जल  की उपस्थिति में क्षार  OH  आयनों  का उत्पादन करते हैं।

NH3(g) + H2O(I) → NH4(aq) + OH-(aq)

 

निष्कर्ष (Conclusion in Hindi)

इस प्रकार शुष्क HCl गैस का नीले लिटमस पेपर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। लेकिन नमी की उपस्थिति में, हाइड्रोजन क्लोराइड गैस नीले लिटमस को लाल रंग में बदल देती है। इस प्रकार HCl गैस केवल जल की उपस्थिति में अपना अम्लीय गुण  प्रदर्शित करती है।

अन्य पढ़ें

  1. Activity 2.10
  2. Activity 2.8

Leave a Comment