RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ

प्रिय विद्यार्थियों

इस लेख में आप RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ पढ़ सकेंगे जो कि आप को RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ  की अवधारणाओं और मुख्य टोपिक्स  को समझने में आपकी मदद करेंगे|

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ  in Hindi

यहां आपको हमारे विशेषज्ञ शिक्षकों द्वारा तैयार RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ  in Hindiके  मुफ्त नोट्स मिलेंगे।जिससे आपको अपना होमवर्क और असाइनमेंट को आसान तरीके से हल करने में मदद करेगा। यह उन छात्रों के लिए बहुत उपयोगी है जो NCERT Science Hindi Medium की किताबों  से पढ़ रहे हैं|

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ  in Hindi Overview

  1. पदार्थ की भौतिक प्रकृति
  2. पदार्थ के कणों की विशेषताएं
  3. पदार्थ की अवस्था
  4. क्या पदार्थ अपनी अवस्था को बदल सकता है?
  5. वाष्पीकरण

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ  in Hindi पाठगत प्रश्नोत्तर                                                                                                                                                                                       

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ in Hindi पृष्ठ संख्या 4

Q1. निम्नलिखित में से कौन से  पदार्थ है?

   कुर्सी, वायु  स्नेह , गंध, घृणा , बादाम, विचार, शीत , शीतल  पेय , इत्र की सुगंध।

उत्तर –  हमारे आस-पास की कोई भी चीज जो स्थान घेरती है, जिसका द्रव्यमान होता  है और हमारे इंद्रियों द्वारा  महसूस की जा सकती है, उसे पदार्थ कहा जाता है।पदार्थ  इस प्रकार हैं –

  कुर्सी, वायु , गंध, बादाम, शीतल पेय , और इत्र की सुगंध

 

Q2. निम्नलिखित प्रेक्षण के  कारण बताएँ-

गर्मा- गरम खाने  की गंध आपको कई मीटर दूर से ही आपके पास  पहुंच जाती  है, लेकिन ठंडे खाने की महक लेने के लिए आपको उसके पास जाना पड़ता है |

उत्तर- ‘ विसरण’  के कारण भोजन की गंध हम तक पहुंचती है। उच्च तापमान के कारण विसरण की दर बढ़ जाती है| क्योंकि तापमान में वृद्धि के साथ कणों की गतिज ऊर्जा बढ़ जाती है। यही कारण है कि गर्म  भोजन की गंध हमें कई मीटर दूर से  आ जाती है । लेकिन दूसरी ओर ठंडे भोजन की गंध इतनी तेजी से नहीं फैलती  है कि यही कारण है कि हमें इसकी गंध प्राप्त करने के लिए पास जाना पड़ता है।

 

Q3.  स्विमिंग पूल में गोताखोर  पानी काट पाटा है। इससे पदार्थ का कौन सा गुण प्रेक्षित होता है |

उत्तर -उपर्युक्त गतिविधि जल  के निम्नलिखित गुणों की व्याख्या करती है –

  1. कणों(अणुओं ) के मध्य आकर्षण बल दुर्बल होता है|
  2. तरल में कणों के बीच रिक्त स्थान अधिक होता है।
  3. तरल पदार्थों के कण आसानी से गति करते हैं।

 

Q4. पदार्थ के कणों की क्या  विशेषताएं होती  हैं?

उत्तर

  1. कणों के बीच रिक्त स्थान होता है।
  2. कण गतिशील होते हैं।
  3. कणों के बीच आकर्षण बल होता है।
  4. पदार्थ के कण बहुत छोटे होते हैं।

 

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ in Hindi पृष्ठ संख्या 6

 

Q.1 किसी तत्व  के द्रव्यमान प्रति इकाई आयतन  को घनत्व (घनत्व = द्रव्यमान/आयतन) कहते है। बढ़ते हुए घनत्व के क्रम में निम्नलिखित को व्यवस्थित करें : वायु , चिमनी का धुआँ, , शहद, जल , चाक,रूई  और लोहा

उत्तर – किसी पदार्थ का घनत्व कणों के प्रति इकाई आयतन  पर निर्भर करता है और  साथ-साथ उनके द्रव्यमान पर भी निर्भर  करता है |इन तीन कारकों  कणों की संख्या , कणों का आकार और आकर्षण बल पर निर्भर करता है |पदार्थों को घनत्व के बढ़ते क्रम में निम्नानुसार व्यवस्थित किया जा सकता है-

       चिमनी का धुआँ  < कपास < जल  < शहद < चाक < लोहा

 

Q.2 (a) पदार्थ की विभिन्न अवस्थाओं के गुणों में होने वाले अंतर को सारणी बद्ध कीजिये |

उत्तर .

गुण

ठोस

द्रव

गैस

आकार

निश्चित

अनिश्चित

अनिश्चित

आयतन

 निश्चित

निश्चित

अनिश्चित

अंतर-कण आकर्षण

मजबूत  

ठोस से कम

बहुत कमजोर

संपीड्यता

नगण्य

बहुत कम

उच्च

कठोरता

बहुत कठोर  

कम कठोर

नगण्य

तरलता

कोई तरलता नहीं

तरलता

सर्वाधिक तरल

विसरण

नगण्य

धीमा

बहुत अधिक  

गतिज ऊर्जा

बहुत कम

ठोस से अधिक

बहुत अधिक

 

(b)निम्नलिखित पर टिप्पणीकीजिये :

दृढ़ता ,संपीड्यता, तरलता, बर्तन में गैस का भरना , आकार, गतिज ऊर्जा और घनत्व |

उत्तर 

(i) दृढ़ता (Rigidity) – बाहरी बल लगाने पर पदार्थ के अपने  आकार को बनाए रखने की प्रवृत्ति  को दृढ़ता कहते हैं ,  ठोस पदार्थ में दृढ़ता सबसे अधिक होती है।

(ii) संपीड्यता (Compressibility) – बल लगाने   पदार्थ के आयतन में कमी होती है|पदार्थ सूक्ष्म कणों से मिलाकर बने होते है और इन कणों के बीच अंतर आणविक स्थान होता है, जब बाहरी बल उन पर लगाया जाता है तो   कण पास पास आते  हैं, इसे संपीड़ितता कहते हैं  है।  गैसों में संपीड़ियता अधिक होती है |

(iii) तरलता(Fluidity) – पदार्थ की बहाने  की प्रवृत्ति को तरलता कहा जाता है। गैसों में तरलता सबसे अधिक है क्यों कि गैसों में अंतर-कण आकर्षण बल  कम होता है  तरल पदार्थों में भी प्रवाह की प्रवृत्ति होती है लेकिन गैसों की तुलना में   अंतर-कण बल अधिक होता है |

(iv) बर्तन में  गैस का भरना – गैस कण कंपन करते हैं और सभी दिशाओं में गति करते रहते हैं इसलिए वे सभी आकार और आकार के पात्र  को भर लेते हैं । गैस के कण पात्र के पूरे स्थान को भर लेते हैं ।

(v) गतिज ऊर्जा(Kinetic energy)- कणों की गति के कारण उनके पास जो ऊर्जा होती है, उसे गतिज ऊर्जा कहते हैं । गैसों में अंतर-कण रिक्त स्थान अधिक  होते हैं और  आकर्षण का अंतर-कण बल कमजोर होता है। इस कारण से, गैसों के कण अधिक ऊर्जा से गति करते हैं , तरल पदार्थों की गतिज ऊर्जा गैसों की तुलना में कम होती है, जबकि यह कमरे के तापमान पर ठोस पदार्थों में सबसे कम होती है|

(vi) घनत्व(Density)- पदार्थ का वह द्रव्यमान है जो   प्रति इकाई आयतन घेरता है । इसे किसी  ठोस पदार्थ का घनत्व ठोस के उस द्रव्यमान को  आयतन से विभाजित करके प्राप्त किया जा सकता है। (द्रव्यमान/आयतन)

(vii) आकृति– किसी पदार्थ का आकार उसके कणों के मध्य आकर्षण  बल और अंतर-कण रिक्त स्थान पर निर्भर करता है। ठोस में आकर्षण बल के सबसे मजबूत होता है इसलिए  निश्चित आकार होता है और दूसरी ओर तरल पदार्थों में आकर्षण बल कमजोर और अंतर अणुक रिक्त स्थान अधिक होता है इसलिए आकार निश्चित नहीं होता है|

 

 

Q.3 कारण बताइए:

(i)  गैस पूरी तरह से  बर्तन को  भर देती है जिसमें इसे  रखते है?

उत्तर- गैस के कण अधिक  गति के साथ सभी दिशाओं में स्वतंत्र रूप से गमन करते  हैं। विसरण के कारण गैस पात्र को  पूरी तरह से  भर देती है। गैसीय अवस्था में अंतर-कण रिक्त स्थान बहुत अधिक  होते हैं,इस कारण गैस पात्र  को पूरी तरह से भर देते हैं।

(ii)  गैस बर्तन की दीवारों पर दबाव डालती है?

उत्तर – प्रति इकाई क्षेत्रफल पर लगने वाले बल को दाब  कहा जाता है। तेज गति से चलने  वाले गैस के कण पात्र  की दीवारों  पर प्रहार करते हैं और उस पर दबाव डालते हैं|

(iii) लकड़ी की मेज  ठोस कहालती है ?

उत्तर – लकड़ी की मेज को ठोस कहलाती है  क्योंकि इसका आकारनिश्चित , आयतन निश्चित , असम्पीडित प्रकृति, कठोरता और उसके  कणों में  कोई गति नहीं होती है।

(iv) हवा में हम आसानी से अपना हाथ चला  सकते हैं लेकिन एक ठोस लकड़ी के टुकड़े में हाथ चलाने के लिए हमें कराटे में दक्ष होना पडेगा |

उत्तर – हवा में अंतर-कण रिक्त स्थान बहुत अधिक होते हैं और  अंतर-अणुक आकर्षण बल बहुत कमजोर होता है। यही कारण है कि हम  हवा में  हाथ  आसानी से हिला सकते  है। लेकिन ठोस में अंतर-कण रिक्त स्थान बहुत छोटे  होते हैं और अंतर-कण आकर्षण बल बहुत मजबूत होता है। इसलिए हमें कराटे में दक्ष होना पडेगा |

 

Q.4  सामान्यतया ठोस पदार्थों की अपेक्षा स्राव द्रवों का घनत्व कम  होता है लेकिन आपने  बर्फ  के टुकड़े को जल में तैरते हुए देखा होगा| पता लगाइए क्यों?पानी पर तैरती है।

उत्तर- ठोस पदार्थों की तुलना में तरल पदार्थों का घनत्व कम होता है। लेकिन बर्फ जो कि  जल  का ठोस रूप तरल जल  की सतह पर तैरता है। यह दर्शाता  है कि पानी के ठोस रूप का घनत्व पानी के तरल रूप की तुलना में कम है। यह बर्फ की खुली पिंजरे जैसी संरचना के कारण होता है। इसलिए बर्फ में कुछ रिक्त  स्थान होते हैं इसलिए  रिक्त  स्थानों के कारण बर्फ का आयतन बढ़ जाता है इसलिए, घनत्व कम हो जाता है। यही कारण है कि यह जल की सतह पर तैरता है।                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                              

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ in Hindi पृष्ठ संख्या 9

Q.1 निम्नलिखित तापमान को सेल्सियस में बदलें ।

       (a) 300K (b) 573K

उत्तर  –केल्विन पैमाने और सेल्सियस पैमाने के बीच संबंध इस प्रकार है:

                t(℃)=t(K)-273

       (a). t(℃)=300-273=27℃

       (b).t(℃)=573-273=300℃

Q.2 निम्न लिखित तापमान पर जल की भौतिक अवस्था क्या होगी ?

      (a) 250℃ (b) 100℃

उत्तर  

(a) 250℃ जल के क्वथनांक (100℃) से अधिक है। इसलिए जल इस तापमान पर गैसीय है|

(b) 100℃ पर, जल उबलना शुरू हो जाता है, इसलिए इस तापमान पर जल एक तरल और गैस दोनों के रूप में उपस्थित होता है। 

 

Q.3 किसी भी पदार्थ की अवस्था  परिवर्तन  के दौरान तापमान स्थिर क्यों रहता है?

उत्तर- जब पदार्थ की अवस्था  का परिवर्तन शुरू होता है, तो दी  की जाने वाली ऊष्मा  का उपयोग गुप्त ऊष्मा या प्रसुप्त ऊष्मा के रूप में किया जाता है। अब आपूर्ति ऊष्मा का उपयोग अंतर-कण बल आकर्षण  को दूर करने के लिए किया जाता है। परिणाम स्वरूप , किसी पदार्थ के पिघलने और उबलने के दौरान तापमान स्थिर रहता है।

 

Q.4 वायुमंडलीय गैसों को द्रव में परिवर्तन करने के  लिए कोई  विधि सुझाइए ?

उत्तर  –वायुमंडलीय गैसों को या तो तापमान को कम करके या दाब डालकर द्रव में परिवर्तित  किया जा सकता है। वायुमंडलीय गैस के द्रवीकरण के दौरान घटक कणों को एक दूसरे के पास पास आते  है और ऐसा तापमान कम  करके और उस पर दाब  डालकर किया जाता है।

RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ in Hindi पृष्ठ संख्या 11

 

Q.1 क्यों शुष्क दिन  कूलर अधिक  ठंडा क्यों करता है?

उत्तर- गर्म और शुष्क के दौरान वातावरण का तापमान अधिक होता है और वायु  की आर्द्रता कम होती है। तापमानमें वृद्धि और आर्द्रता कम होने से  वाष्पीकरण की दर में वृद्धि होती है तो,  कूलर  शुष्क दिन में अधिक  ठंडा करता है।

 

Q.2 गर्मियों में घड़े का जलठंडा क्यों होता  है?

उत्तर- जल को घड़े (मटके)में रखा जाता है तो निम्नलिखित कारणों से गर्मियों के दौरान जल ठंडा हो जाता है:

  1. गर्मियों में, तापमान अधिक होता है इसलिए वाष्पीकरण की दर बढ़ जाती है इसलिए, ठंडा हो जाता है।
  2. उच्च गतिज ऊर्जा वाले पानी के कण मिट्टी के बर्तन (मटका) के छिद्रों से बहार निकल जाते हैं और वाष्पित हो जाते हैं,  वाष्पीकरण के कारण शीतलन होता है इस प्रकार, पानी ठंडा हो जाता है।

 

Q.3 एसीटोन , पेट्रोल या इत्र डालने पर  हमारी हथेली ठंडी क्यों हो जाती  है ?

उत्तर  –एसीटोन या पेट्रोल या इत्र का क्वाथ्नांक निम्न होता है, जब उन्हें हथेली पर रखा जाता है तो वे हथेली की गर्मी या ऊष्मा को अवशोषित करते हैं और तेजी से वाष्पित होते हैं, इसलिए हथेली को ठंडा लगता है।

 

Q.4 कप की अपेक्षा प्लेट से हम गर्म दूध या चाय जल्दी क्यों पी लेते हैं?

उत्तर  –जब सतह का क्षेत्रफल बढ़ जाता है तो वाष्पीकरण की दर भी बढ़ जाती है, एक कप के सतह के क्षेत्रफल  की तुलना में प्लेट की  सतह का  क्षेत्रफल अधिक  होता है, इसलिए जब गर्म चाय या दूध को प्लेट  में डाला जाता है जिसमें तो वाष्पीकरण की दर बढ़ जाती है और चाय या दूध थोड़ा ठंडा हो जाता है। इस प्रकार एक कप के बजाय प्लेट  से गर्म चाय या दूध पीना आसान हो जाता है।

 

Q.5 गर्मियों में हमें किस तरह के कपड़े पहनने चाहिए?

उत्तर –हमें हल्के रंग के सूती कपड़े पहनने चाहिए क्योंकि गर्मियों के दौरान हमें  अधिक पसीना आता है  और कपास में पसीने को अवशोषित करने की प्रवृत्ति होती है और पसीना  तेजी से वाष्पित होता  है, यह हमें गर्मियों में ठंडा प्रभाव देता है।

 

 RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ in Hindi अभ्यास प्रश्न  

 

Q.1 निम्न लिखित तापमानों  को सेल्सियस इकाई में परिवर्तित करें  :

       (a) 293 K (b) 470 K

उत्तर     (a) 293 K

               t(℃)=293-273=20℃

              (b) 470 K
              t(℃)=470-273 = 197℃

Q.2  निम्नलिखित तापमानों को केल्विन इकाई में परिवर्तित करें

       (a) 25 ℃(b) 373℃

उत्तर    t(K)=t(℃) + 273
              (a). 25℃
              t(K)=25 + 273=298K

              (b). 3730 C

            t (K)=373 + 273=646K

         

Q.3  निम्नलिखित अवलोकनों हेतु कारण लिखे :

       (a) नेप्थलीन को रखा रहने देने पर यह समय के साथ कुछ भी ठोस पदार्थ छोड़े बिना अदृश्य हो जाती है|

       (b) हमें इत्र की गंध बहुत दूर बैठ हुए भी पहुँच जाती है|

उत्तर- (a) नेप्थलीन एक वाष्पशील ठोस है जो कमरे के तापमान पर उर्ध्वपातन दर्शाता  है। जिसके परिणाम स्वरूप  यह गैसीय अवस्था में परिवर्तित हो जाता है। यही कारण है कि नेप्थलीन बॉल्स बिना किसी ठोस पदार्थ को छोड़े अदृश्य  हो जाती हैं।

(b)  हम कई मीटर दूर बैठे इत्र की गंध प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि इत्र में वाष्पशील पदार्थ होते हैं और वे वायु  में तेजी से फैलते हैं। विसरण  के द्वारा इत्र के कण वायु  के कणों के साथ मिल जाते हैं और कई मीटर दूर बैठे हम तक पहुंचते हैं।

 

Q.4 निम्नलिखित पदार्थों को उनके कणों बीच बढ़ते हुए आकर्षण के अनुसार व्यवस्थित करें

    (a) जल  (b) चीनी, (c)ऑक्सीजन 

उत्तर  पदार्थों के  कणों के बीच आकर्षण के बल का क्रम इस प्रकार है:

                          ठोस > तरल > गैस

    इसलिए, बढ़ते क्रम में कणों के बीच आकर्षण का बल इस प्रकार है:

                   चीनी > पानी >ऑक्सीजन

 

Q.5    निम्नलिखित तापमानों पर जल  की भौतिक अवस्था  क्या है?

       (a) 250 C    (b)  00 C      (c)  1000

उत्तर   (a)250 C पर, जल  की भौतिक अवस्था एक तरल है।

          (b) 00 C  पर जल  की भौतिक अवस्था या तो ठोस (बर्फ) या  तरल हो सकती है।

          (c)  1000 C  पर जल की भौतिक अवस्था   तरल या गैस (भाप) हो सकती है।  

 

Q.6   पुष्टि हेतु कारण दे :

       (a) जल कमरे के ताप पर द्रव  है।

       (b) लोहे की अलमारी कमरे के ताप पर  ठोस है.

उत्तर       (a) जल निम्नलिखित कारणों से कमरे के तापमान पर तरल है:

  1. जल उस बर्तन का आकार लेता है जिसमें इसे रखा जाता है। इसलिए जल  का निश्चित आकार नहीं होता है, इसलिए यह एक तरल है।
  2. जल का हिमांक बिंदु 0 डिग्री सेल्सियस है जिस पर यह ठोस (बर्फ) बन जाता है और क्वथनांक 100 डिग्री सेल्सियस होता है जिस पर यह गैस में परिवर्तित होना शुरू हो जाता है। कमरे का तापमान 0 डिग्री सेल्सियस से 100 डिग्री सेल्सियस के बीच होता है, यही कारण है कि यह कमरे के तापमान पर तरल है।
  3. जल को एक बर्तन से दूसरे बर्तन में डाला जा सकता है। इसलिए जल  में तरलता होती है यानी यह एक तरल के रूप में बह सकता है।

(b) लोहे की अलमारी निम्नलिखित कारणों से कमरे के तापमान पर एक ठोस है:

  1. लोहे की अलमारी कठोर और असम्पीडित प्रकृति की होती है अर्थात, इसका आकार निश्चित होता है, इसलिए यह एक ठोस है।
  2. लोहे का गलनांक कमरे के तापमान से बहुत अधिक है, यही कारण है कि यह ठोस है।
  3.  लोहे की अलमारी वायु में विसरित नहीं हो  सकती है अर्थात, यह फैल नहीं सकती है इसलिए यह ठोस है।

 

Q.7 273K पर बर्फ को  ठंडा करने पर तथा जल को इसी तापमान पर ठंडा करने पर शीतलता  का प्रभाव अधिक  क्यों होता है?

उत्तर    बर्फ (जल  की ठोस अवस्था) में जल  (तरल) की तुलना में संलयन की गुप्त ऊष्मा जल से  अधिक होती है,  इसलिए बर्फ आसपास से अधिक ऊष्मा  को अवशोषित करती है जबकि जल  सामान  तापमान परऊष्मा  को अवशोषित नहीं करता है, इसलिए 273K पर बर्फ जल  की तुलना में अधिक शीतलता प्रदान करता है ।

 

Q.8 उबलते हुए जल या भाप में से जलने की तीव्रता किसमे अधिक महसूस होती है|

उत्तर 373K (100 °C) पर भाप आस पास के वातावरण  से  से वाष्पीकरण की गुप्त ऊष्मा के बराबर ऊष्मा को अवशोषित करती  है जब कि  उबलते जल  में गुप्त ऊष्मा  नहीं होती है इस प्रकार, 373K (100°C) पर भाप में समान तापमान पर पानी की तुलना में अधिक ऊष्मा  होती है और इसलिए, भाप उबलते जल  की तुलना में अधिक गंभीर जलन पैदा करती है।

 

Q.9 निम्नलिखित चित्र के  लिए   A, B, C, D, E तथा  F की अवस्था परिवर्तन को नामांकित करें :

 

           

उतर   A= संगलन  (पिघलना)                 D = Solidification (जमना )

         B = वाष्पीकरण            E = उर्ध्वपातन

         C = संघनन  (द्रवीकरण ) F = उर्ध्वपातन   

 

ये NCERT solution of science  in Hindi Medium और अध्ययन सामग्री आपको अपने RBSE बोर्ड और अन्य राज्य बोर्ड परीक्षाओं के लिए अच्छे अंकों में मदद करेगी।

आप हमारे विशेषज्ञ शिक्षकों द्वारा तैयार किए गए RBSE Solutions for Class 9 Science Chapter 1हमारे आस पास के पदार्थ  आपके लिए बेहद उपयोगी सिद्ध होंगे|

      

आपके लिए पढने योग्य सामग्री  

  1. क्या हमारे आस पास के पदार्थ शुद्ध हैं  प्रश्नोत्तर 

                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                                  

Leave a Comment